स्टूडेंट्स पढ़ाई में ध्यान क्यों नहीं लगा पाते? How To Concentrate On Studies Tips In Hindi
स्टूडेंट्स पढ़ाई में ध्यान क्यों नहीं लगा पाते? 

स्टूडेंट्स पढ़ाई में ध्यान क्यों नहीं लगा पाते? How To Concentrate On Studies Tips In Hindi

यदि हम आज के समय की बात करें तो स्टूडेंट्स का पढ़ाई में ध्यान नहीं लगने का मैन इंपॉर्टेंट कारण है मन का विचलित होना । स्टूडेंट अपने मन को विचलित होने से नहीं रोक सकते क्योंकि इसका सबसे बड़ा कारण है सोशल नेटवर्किंग ।और जिन स्टूडेंट्स को पढ़ाई में मन लगाना है उनको सोशियल नेटवर्किंग से अपना ध्यान हटाना ही होगा ।

हर कोई व्यक्ति का चाहे वह स्टूडेंट हो या कहीं पर जॉब करता हो या खुद की कंपनी हो हर कोई व्यक्ति का मन विचलित या ध्यान हटने का मेन पॉइंट जो होता है वह है सोशल नेटवर्क । कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस उम्र के हो आप क्या कर रहे होकुछ ना कुछ आपके साथ ऐसा भी होता होगा जिससे कि आपका मन विचलित हो जाता है आपका मन स्थिर नहीं रहता आपका मन भटक जाता है ।

आपके साथ ऐसा तो कभी ना कभी हुआ ही होगा कि आप किसी काम को कर रहे होंगे या फिर आप पढ़ाई कर रहे होंगे और उसी समय आपके सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट या व्हाट्सएप फेसबुक या दोस्तों के मैसेज तो आए होंगे जिसके कारण आप उन मैसेज को देखने में रिप्लाई करने में आपके एक-दो घंटे तो बर्बाद हो गए होंगे ।

ऐसा ही आज के समय में हर विद्यार्थी के साथ होता है कि वह पढ़ाई करने का मन बना कर पढ़ाई करने बैठ जाता है लेकिन उसके मोबाइल में उन सोशल नेटवर्किंग साइटों या यार दोस्तों के मैसेज ओं के कारण उनका ध्यान उन पर चला जाता है और फिर क्या होता है कि आप दोबारा पढ़ने बैठते हो तो आप का मन नहीं करता आपके मन में वही चैट वही मैसेज बार-बार आता है जिसके कारण आपका ध्यान पढ़ाई में नहीं लगता ।

आज हम आपके लिए इस Post में कुछ ऐसी बेहतरीन Tips लेकर आये हैं जो आपको पढ़ाई के समय ध्यान को एक जगह केंद्रित करने में बहुत मदद करेंगे।

पढ़ाई में मन कैसे लगायें? 3 ज़बरदस्त मूल मंत्र Best Ideas to Concentrate on Studies 

तो चलिए दोस्तों आज उन बेहतरीन टिप्स एंड ट्रिक को जान लेते हैं जिनसे आपको पढ़ने में भी मन लगेगा और पढ़ा हुआ हमेशा के लिए याद ही रह जाएगा । 

1. पढ़ाई करने के लिए सही स्थान हो 

दोस्तों सबसे पहले तो आपको ऐसी जगह ढूंढी है जहां का वातावरण एकदम शांत हो वहां कोई शोरगुल ना हो । क्योंकि आप पढ़ाई में कितना ध्यान लगा सकते हैं यह सब आपके वातावरण के ऊपर निर्भर करता है ।

जब भी आप पढ़ाई करने बैठो तो आप अपने फोन को साइलेंट करके रखो या फिर स्विच ऑफ कर दो ताकि आपको कोई मैसेज ना आए और आपका ध्यान पढ़ाई से ना भटके । कई स्टूडेंट्स को पढ़ाई करते समय गाना सुनना बहुत अच्छा लगता है यह गाने सुनते सुनते पढ़ाई करते हैं लेकिन आपकोएक विशेष ध्यान रखना है कि गाने उतने ही सुने जिससे कि आपका मन इधर-उधर ना भटके ।

आप जिस भी कमरे में पढ़ाई कर रहे हो उस कमरे के बाहर “Do Not Disturb” का बोर्ड लगायें ताकि आपको कोई बीच में परेशान ना करें । यदि आप ऐसा नहीं करते तो आप जब पढ़ाई कर रहे होंगे तब किसी ने यदि आपके गेट को बजा दिया तो आपका ध्यान पढ़ाई से हट जाएगा ।

2. पढ़ाई को अपने नियमित कार्य बनायें 

जिस तरह आपको किसी काम को करने के लिए पहले उस काम की प्लानिंग करनी पड़ती है उसी प्रकार पढ़ाई करने के लिए पहले प्लानिंग करना पड़ता है ज्यादातर स्टूडेंट यह गलती कर बैठते हैं कि वह पढ़ाई को अपने नियमित कार्यों से अलग समझ बैठते हैं जबकि ऐसा करना सही नहीं है ।

आप जब भी बैठो तब आपको यह प्लानिंग करनी है कि आज मुझे क्या पढ़ना है और क्या नहीं । आपने जिस चैप्टर को पढ़ने की प्लानिंग की है उस चैप्टर को कंप्लीट करके ही उठो उसको अगले दिन के लिए बाकी मत छोड़ो ।

स्टूडेंट सबसे बड़ी गलती यह करते हैं कि आपने पहले जो चैप्टर पढ़ लिया है वह आपको याद हो गयालेकिन आपने उसका रिवीजन नहीं किया तो वह धीरे-धीरे आपके माइंड से निकलता चला जाएगा इसलिए आपको यह विशेष ध्यान रखना है कि हफ्ते में एक बार आपने जो भी पड़ा है उसका रिवीजन जरूर करें । ऐसा करने से आपने जो भी पड़ा है वह अच्छे से याद हो जाएगा उसे आप कभी नहीं भूल पाओगे ।

3. हर दिन पढ़ाई करने के लिए Time Table Chart बनायें

दोस्तों आपको पढ़ाई करने से पहले आपको उसका टाइम टेबल चार्ट बनाना होगा कि मुझे इतने समय में यह पढ़ना है इतने समय में ये पढ़ना है ‌। और आपको टाइम टेबल इस प्रकार से बनाना है की एक बार पढ़ने के लिए 45 मिनट से ज्यादा का समय नहीं हो । और 45 मिनट लगातार पढ़ने के बाद 10-15 मिनट का ब्रेक जरूर ले ।

दोस्तों आपने जो 45 मिनट के बाद ब्रेक लिया है या रेस्ट किया है उसमें आप अपने मोबाइल को ना देखें बल्कि उस समय में आपको पानी पीना है इधर-उधर करना है और उसके तुरंत बाद वापिस पढ़ाई करने के लिए बैठ जाना है ।

और आपको एक विशेष ध्यान रखना है कि आप का मन पढ़ाई करने में किस समय अच्छा लगता है दिन में या रात में । आप का मन पढ़ाई करने में जिस भी समय अच्छा लगे आप उसी समय पढ़ाई करें ना कि उस समय पढ़ाई करें जब आपका मन बिल्कुल नहीं पढ़ाई में नहीं लगता हो ।