Rajasthan History Questions (History of Rajasthan)

Rajasthan Ka Itihas: राजस्थान का इतिहास महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर (Rajasthan History)

Q.1 बीकानेर का वह कौन सा प्रथम शासक था जिसने अकबर की अधीनता स्वीकार की थी?

  1. राव कल्याणमल
  2. रायसिंह
  3. लूणकरण
  4. कर्णसिंह

Ans. राव कल्याणमल

Note: –

  • राव कल्याणमल (1544-1574 ई.) राव जैतसी के पुत्र थे।
  • इन्होंने गिरी सुमेल(1544)के युद्ध में शेरशाह सूरी की सहायता की थी।
  • रायसिंह एवं पृथ्वीराज राव कल्याणमल के पुत्र थे। पृथ्वीराज ने ‘वेलि किसन रुक्मणी री’ नामक उत्कृष्ट ग्रन्थ लिखा।
  • रायसिंह (1574.1612 ई.) मुगल सम्राट अकबर एवं जहाँगीर की सेवा में रहे।

Q.2 शिष्टमंडल का अंतिम नेतृत्व करने के लिए अकबर ने प्रताप के पास किसको भेजा ताकि वे शांतिपूर्ण अधीनता स्वीकार कर सकें?

  1. जलाल खां
  2. टोडरमल
  3. भगवानदास
  4. मानसिंह

Ans. टोडरमल

Note: –

  • मुगल सम्राट अकबर (1556-1605 ईस्वी) ने अपनी अधीनता स्वीकार करवाने हेतु राजा प्रताप के पास चार शिष्ट मण्डल भेजे।
  • जो क्रमशः थे- जलाल खाँ, मानसिंह, भगवान दास एवं टोडरमल।
  • लेकिन स्वतन्त्रता प्रेमी राणा प्रताप ने इन्हें अस्वीकार कर मुगल सेना के साथ 18 जून, 1576 को हल्दीघाटी का युद्ध लड़ा।

Q.3 1857 के विद्रोह की शुरुआत के समय उदयपुर में ब्रिटिश रेजिडेंट कौन था ?

  1. मेजर बर्टन
  2. मेजर शांवर्श
  3. सर जॉन लॉरेंस
  4. विलियम ईडन

Ans. मेजर शांवर्श

Note: –

  • मेजर शॉवर्स 1857 की क्रान्ति के समय मेवाड़/उदयपुर का ब्रिटिश रेजीडेण्ट था।
  • मेजर शॉवर्स ने नीमच सैनिक छावनी के विद्रोह का दमन किया।
  • शाहपुरा के शासक लक्ष्मणसिंह ने जहाँ एक ओर नीमच छावनी के क्रान्तिकारियों की सहायता की, वहीं दूसरी ओर मेजर शॉवर्स के लिए दुर्ग के दरवाजे नहीं खोले।

Q.3 निम्नलिखित में से किस समाचार पत्र के साथ विजय सिंह पथिक का संबंध जुड़ा हुआ है?

  1. राजस्थान समाचार
  2. मेवाड़ समाचार
  3. राजस्थान केसरी
  4. राजपूताना गजट

Ans.राजस्थान केसरी

Note: –

  • विजय सिंह पथिक ने 1920 ईस्वी में ‘राजस्थान केसरी’ नामक समाचार-पत्र का प्रकाशन करना प्रारम्भ किया, जिसका सम्पादक उन्होंने श्री रामनारायण चौधरी को नियुक्त किया।
  • इस समाचार-पत्र को आर्थिक सहायता श्री जमनालाल बजाज (गांधीजी के पाँचवें पुत्र) से मिलती थी।
  • राजस्थान समाचार’ नामक पत्र सन् 1889 में मुंशी समरनदास ने प्रकाशित किया।
  • राजस्थान कसरी, नवीन राजस्थान एवं तरुण राजस्थान विजयसिंह पथिक से सम्बन्धित समाचार पत्र थे।

Q.4 निम्नलिखित कथनों में से विग्रहराज चतुर्थ से संबंधित कौन सा कथन असत्य है?

  1. विग्रहराज चतुर्थ ने 1158 से 1163 ईस्वी तक शासन किया।
  2. उसने अजमेर में एक संस्कृत विद्यालय की स्थापना की।
  3. विग्रहराज चतुर्थ ने ‘हरिकेलि’ नामक नाटक लिखा।
  4. उसने अपने पिता को मारकर राजसिंहासन प्राप्त किया

Ans. उसने अपने पिता को मारकर राजसिंहासन प्राप्त किया

Note: –

  • विग्रहराज चतुर्थ (1158-1163 ई.) का शासनकाल चौहानों का स्वर्णकाल कहलाता है।
  • विग्रहराज चतुर्थ ने अजमेर में एक संस्कृत विद्यालय की स्थापना एवं विशालसर झील का निर्माण करवाया।
  • उनके द्वारा लिखा गया प्रसिद्ध नाटक “हरिकेलि” है।
  • ललित विग्रह’ नाटक का लेखक सोमदेव उनका राज्य कवि था ।
  • विग्रहराज ने अपने पिता अर्णोराज को नहीं वरन् पितृहन्ता भाई जग्गदेव को मारकर सिंहासन प्राप्त किया था।

Q.5 जुलाई 1932 में किस रियासत के शासक ने जनता में उभरती जागृति को कुचलने के लिए सार्वजनिक सुरक्षा कानून पास किया था?

  1. बीकानेर
  2. जयपुर
  3. कोटा
  4. उदयपुर

Ans.बीकानेर

Note: –

  • बीकानेर के प्रसिद्ध शासक गंगासिंह ने जनता में उभरती जागृति को दबाने के लिए जुलाई, 1932 में सार्वजनिक सुरक्षा कानून पारित
  • किया। इस कानून को बीकानेर की जनता ने ‘बीकानेर का काला कानून” के नाम से पुकारा।
  • बीकानेर प्रजा मण्डल की स्थापना 1936 ई. में हुई।

Q.6 राजस्थान के प्रजामंडलों द्वारा 19 अप्रैल 1942 को कौनसा दिवस मनाया गया?

  1. रियासती दिवस
  2. बीरबल दिवस
  3. कृष्णा दिवस
  4. इनमें से कोई नहीं

Ans. रियासती दिवस

Note: –

  • अखिल भारतीय देसी राज्य लोक परिषद के आह्वान पर राजस्थान में 19 अप्रैल 1942 को रियासती दिवस मनाया गया

Q. 7 खानवा के युद्ध की हार एवं राणा सांगा की मृत्यु से उत्पन्न राजपूताना के राजनीतिक क्षितिज में आई कमी को काफी हद तक राव मालदेव में पुणे स्थापित किया मालदेव से संबंधित तथ्य निम्न में से कौन सा नहीं है?

  1. राव मालदेव के राज्य में कुल 58 परगने थे
  2. उसने राठौड़ों की तरफ से खानवा के युद्ध में हिस्सा लिया था
  3. हरमोड़ के युद्ध में मालदेव की सेना ने शेरशाह सूरी को पराजित किया
  4. मालदेव की उपलब्धियों के संदर्भ में हिंदू कवियों ने मालदेव को हिंदू बादशाह से विभूषित किया

Ans. हरमोड़ के युद्ध में मालदेव की सेना ने शेरशाह सूरी को पराजित किया

Note: –

  • राव मालदेव जोधपुर शासक राम गंगा का पुत्र था
  • राव मालदेव (1532 से 1562) का शेरशाह सूरी से सुनील गिरी का युद्ध (1544 ई.) हुआ हालांकि इस युद्ध में मालदेव उपस्थित नहीं था

Q. 8 जहांगीर ने बादशाह बनने के बाद निम्नलिखित में से किस राजपूत शासक के मनसब में कमी की?

  1. राजा भारमल
  2. राजा भगवंत दास
  3. मानसिंह
  4. जयसिंह द्वितीय

Ans. मानसिंह

Note: –

  • मुगल सम्राट अकबर के समय आमेर के राजा मानसिंह अपनी योग्यता से चरमोत्कर्ष पर थे।
  • सलीम (जहाँगीर) के बार-बार विद्रोह करने से राजा मानसिंह ने अकबर को सलीम के पुत्र खुसरो को मुगल सम्राट बनाने की सलाह दी थी।
  • खुसरो मानसिंह की बहिन मानबाई का पुत्र था।
  • जब सलीम जहाँगीर के रूप में मुगल सम्राट (1605 ई.) बना तब उसने मानसिंह का मनसब कम करके बंगाल तत्पश्चात् बिहार का सूबेदार बनाया।
  • बाद में दक्षिण भारत में भेजा, जहाँ 1614 ई. में ऐलिचपुर में मानसिंह की मृत्यु हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here