Rajasthan History: राजस्थान के प्रमुख प्रजामण्डल Rajasthan ke Pramukh Prajamandal

Rajasthan ke Pramukh Prajamandal (राजस्थान के प्रमुख प्रजामण्डल) प्रजामण्डल का अर्थ है – “प्रजा का मण्डल (संगठन)” ।

1920 के दशक में ठिकानेदारों और जागीरदारों के अत्याचार दिन प्रतिदिन बढ़ रहे थे। इसी के कारण किसानों द्वारा विभिन्न आंदोलन चलाये जा रहे थे साथ ही गांधी जी के नेतृत्व में देश में स्वतंत्रता आन्दोलन भी चल रहा था।

Rajasthan ke Pramukh Prajamandal (राजस्थान के प्रमुख प्रजामण्डल)
राजस्थान के प्रमुख प्रजामण्डल

इन सभी के कारण राज्य की प्रजा में जागृती आयी और उन्होंने संगठन(मंडल) बना कर अत्याचारों के विरूद्ध आन्दोलन शुरू किया जो प्रजामण्डल आंदोलन कहलाये।

Rajasthan ke Pramukh Prajamandal (राजस्थान के प्रमुख प्रजामण्डल)

प्रजामण्डल आन्दोलनों का उद्देश्य – रियासती कुशासन को समाप्त करना व एक उत्तरदायी शासन की स्थापना करना जो प्रजा के प्रती उत्तरदायी हो”।

राजस्थान के प्रमुख प्रजामण्डल इस प्रकार है –

  • राजस्थान में राजनीतिक गतिविधियों के संचालन हेतु सर्वप्रथम प्रजमंडल की स्थापना कब व कहां की गई – सन् 1934 में जोधपुर में
  • मेवाड़ प्रजामंडल की स्थापना कब की गई – 24 अप्रैल 1938
  • मेवाड़ प्रजामंडल की स्थापना किसके द्वारा की गई – माणिक्यलाल वर्मा
  • मेवाड़ प्रजामंडल का अध्यक्ष किस चुना गया – बलवंत सिंह मेहता (RTET 2011)
  • मेवाड़ का प्रथम अधिवेशन कब व किसकी अध्यक्षता में हुआ – नवम्बर 1941 में माणिक्य लाल वर्मा
  • मोहन लाल सुखाडिया जैसे महापुरुष का उदय किस अधिवेशन में हुआ जिन्होंने 17 वर्ष तक मुख्यमंत्री पद का भार संभाला – मेवाड प्रजामंडल के प्रथम अधिवेशन (1941) में
  • मेवाड़ प्रजामंडल के प्रथम अधिवेशन का उद्घाटन किसने किया – आचार्य कृपलानी
  • जोधपुर प्रजामंडल की स्थापना कब की गई – 1934 में
  • जोधपुर प्रजामंडल की स्थापना किसकी अध्यक्षता में किया गया – भंवर लाल सराफ
  • मारवाड़ लोक परिषद का गठन कब व किसके द्वारा की गई – 16 मई 1938 को रणछोड़दास गट्टानी की अध्यक्षता में
  • अखिल भारतीय देशी राज्य परिषद का अधिवेशन कब व कहां व इसके महामंत्री कौन थे -1936 में कराची में जयनारायण व्यास
  • मारवाड़ में राजनैतिक जागृति का जनक किसे कहा जाता है – जयनारायण व्यास को
  • जयपुर प्रजामंडल की स्थापना कब व किसके द्वारा की गई – सन् 1938 में जमुनालाल बजाज की प्रेरणा से व हीरालाल शास्त्री के सक्रिय सहयोग से
  • जयपुर प्रजामंडल का प्रथम अधिवेशन कब व किसकी अध्यक्षता में हुआ -9 मई 1938 में जमुनालाल बजाज की
  • अध्यक्षता में सन् 1940 में जयपुर प्रजामंडल के अध्यक्ष कौन बने – हीरालाल शास्त्री के अध्यक्षता में
  • बीकानेर प्रजामंडल की स्थापना कब व किसे द्वारा की गई – 4 अक्टूबर 1936 को माघाराम वैद्य की अध्यक्षता में
  • बीकानेर राज्य प्रजा परिषद का गठन कब व किसकी अध्यक्षता में की गई – 22 जुलाई 1942 को रघुवीरदयाल गोयल
  • भरतपुर प्रजामंडल की स्थापना कब व किसके सहयोग से किया गया – दिसम्बर 1938 को श्री किशन लाल जोशी के प्रयासों से गोपीलाल यादव की अध्यक्षता में
  • भरतपुर प्रजामंडल का नाम बदलकर प्रजापरिषद कब रख गया -25 अक्टूबर 1939 को
  • कोटा प्रजामंडल की स्थापना कब व किसके द्वारा की गई – 1938 में पं. नयनूराम शर्मा व पं. अभिन्नहरि के द्वारा
  • हाडौती प्रजामंडल की स्थापना कब की गई – 1934 में 
  • कोटा राज्य में जनजागृति के जनक कौन माने जाते है – पं. नयनुराम शर्मा
  • अलवर प्रजामंडल की स्थापना कब व किसके द्वारा की गई – 1938 में पं. हरिमोहन व श्री कुंजविहारी मोदी के द्वारा
  • सिरोही प्रजामंडल की स्थापना कब व किसके द्वारा की गई – 28 जनवरी 1938 को गोकुल भाई भट्ट द्वारा (मुम्बई)
  • बूंदी प्रजामंडल की स्थापना कब की गई – 1931 में
  • करौली प्रजामंडल की स्थापना कब व किसने की – अप्रैल 1939 में त्रिलोक चन्द माथुर की अध्यक्षता में (ग्राम सेवक परीक्षा 1010)
  • धौलपुर प्रजामंडल की स्थापना कब व किसने की – 1936 में कृष्ण दत्त पालीवाल
  • शाहपुरा प्रजामंडल की स्थापना कब की गई – 18 अप्रैल 1938
  • जैसलमेर प्रजामंडल की स्थापना कब व किसने की – 15 दिसम्बर 1945 को मिठालाल व्यास
  • किशनगढ़ प्रजामंडल की स्थापना कब व किसके प्रयत्न से की गई – सन् 1938 में कांतिलाल चौथाणी 
  • झालावाड प्रजामंडल की स्थापना कब व किसकी अध्यक्षता में की गई – 25 नवम्बर 1946 में मांगी लाल भव्य की अध्यक्षता में
  • डूंगरपुर प्रजामंडल की स्थापना कब व किसकी अध्यक्षता में की गई – 1 अगस्त 1944 भोगी लाल पाण्ड्या
  • बांसवाड़ा प्रजामंडल की स्थापना कब व किसके सहयोग से की गई – 1943 में भूपेन्द्र नाथ त्रिवेदी ने धुलजी भाई व अन्य साथियों के सहयोग से
  • प्रतापगढ़ प्रजामंडल की स्थापना कब व किसके सहयोग की गई – 1945 में श्री चुन्नी लाल व अमृत लाल के प्रयासों से
  • शाहपुरा प्रजामंडल की स्थापना कब व किसके द्वारा की गई – माणिक्य लाल वर्मा की प्रेरणा से रमेश चन्द्र ओझा और लादूराम व्यास के सहयोग से (भीलवाड़ा)

यह भी पढ़ें –

4 Best Self-Improvement Tips in Hindi – खुद को बेहतर बनाने के 4 तरीके

Rajasthan Painting आधुनिक चित्रकार ( राजस्थान की चित्रकला )

Leave a Comment

%d bloggers like this: